Tag Archives: rajasthan gk

Rajasthan Gk Quiz -1

निम्न में से दाउदी बोहरा सम्प्रदाय का प्रमुख धार्मिक स्थल कौनसा है?


निम्न में से किस मुस्लिम संत को नरहड़ के पीर के नाम से जाना जाता है?


निम्न में से कौनसे मुस्लिम संत चौहान सम्राट पृथ्वीराज तृतीय के शासन काल में राजस्थान आए थे?


परनामी सम्प्रदाय की प्रमुख पीठ कहाँ पर है?


ख्वाजा फखरुद्दीन चिश्ती की दरगाह कहाँ पर स्थित है?


निम्न में से किस संप्रदाय के लोग 42 नियमों का पालन करते है?


निरजंनी सम्प्रदाय की प्रमुख पीठ कहाँ पर है?


‘अर्णभवाणी‘ नामक ग्रन्थ में किनके गीतों का संग्रह है?


किस क्षेत्र के राजा ने जाम्भोजी के प्रभाव से खेजड़ी के वृक्ष को राजकीय झंडे में रखा?



राजस्थान जीके क्विज | Rajasthan Gk Quiz- Forts/महल -1

Welcome to RPSCADDA.

दोस्तों राजस्थान जीके/सामान्य ज्ञान की इस श्रंखला में इस क्विज में आपके सामने राजस्थान के महत्वपूर्ण दुर्गों/महलों से संबन्धित प्रश्न दिये जा रहे है, ये प्रश्न आपके लिए किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में महत्वपूर्ण साबित हो सकते है, अगर हमारे प्रश्नों में आपको कोई त्रुटि लगे तो हमें जरूर बताएँ ।

Notes- Rajasthan gk- Lokdevta- Baba Ramdev JI

Notes- Rajasthan gk- Lokdevta- Baba Ramdev JI

baba ram dev ji
बाबा रामदेव जी के मंदिर की फोटो

॰      रामदेव जी रामसा पीर, रूणेचा रा धणी व पीरां रा पीर नाम से भी प्रसिद्ध है।

॰      रामदेव जी को भगवान श्री कृष्ण का तथा उनके बड़े भाई बीरमदेव को बलराम का अवतार माना जाता है।

॰      रामदेव जी के पिता का नाम-अजमलजी तंवर, और माता का नाम -मैणादे, तथा पत्नी का नाम -नेतलदे (नेतलदे अमरकोट के राजा दल्लेसिंह सोढ़ा की पुत्री थी।)

॰      मान्यता है की रामदेवजी का जन्म उंडूकाश्मीर गाँव (शिव-तहसील, बाड़मेर) में भाद्रपद शुक्ला द्वितीया को हुआ।

॰      रामदेव जी ने समाधि-रूणेचा (जैसलमेर) में रामसरोवर की पाल पर भाद्रपद शुक्ला दशमी को ली।

॰      रामदेवजी ने जो समाधि स्थल स्व्यन के लिए तय किया थावहाँ पर उनकी मुँह बोली बहिन डाली बाई ने समाधि ली।

॰      रामदेवजी की 2 सगी बहिनें थीं- लाछा बाई और सुगना बाई।

Ranthambhore Trinetra Ganesh Temple, Ranthambhore Fort, Sawai Madhopur

Ranthambhore Trinetra Ganesh Temple, Ranthambhore Fort, Sawai Madhopur

Ranthambore Ganesh Temple - Sawai Madhopur
Ranthambore Ganesh Temple – Sawai Madhopur

Pratham Ganesha means Trinetra Ganesha of Ranthambhore. Hindus across the world worship lord Ganesha first before any auspicious ceremony or new venture. It is believed from the ancient times that Trinetra Ganesha Of Ranthambhore is the Pratham Ganesha. Lord Ganesh is God of Good Fortune , Education, knowledge, wisdom and wealth located in Ranthambhore fort, about 12 KMs from Sawai Madhopur ,Rajasthan.

Shree Ganesha drives away all sorrows, difficulties, and miseries. Shree Ganesha is the enemy of all obstacles. Shree Ganesha is the destroyer of obstacles. Shree Ganesha confers happiness and peace (on his devotees). Shree Ganesha is the master of all these powers (intellect (buddhi) and fulfillment (siddhi, self-realization). When there is purity of mind, you achieve peace (which is siddhi). Shree Ganesha is thus the Lord of the intellect and self-realization. Hence, every human being should acquire control over the mind .Shree Ganesha is the Lord of all learning (vidya).